हमारे बारे में

मेन्स डे आउट (Men’s Day Out) में पुरुषों के अधिकार, लैंगिक पक्षपाती कानून (Gender Biased Laws), माता-पिता का बच्चों पर प्रभाव और उनसे संबंधित स्टोरी प्रकाशित होते हैं।

हमारे बारे में जानें (हमारा विचार)

लैंगिक समानता (Gender Equality) या जेंडर समानता पर लंबे समय से देश में एक स्थापित बहस चल रही है। लैंगिक समानता का उद्देश्य पुरुषों और महिलाओं के बीच सभी सीमाओं और मतभेदों को दूर करना है। यह पुरुष और महिला के बीच किसी भी प्रकार के भेदभाव को समाप्त करता है। लैंगिक समानता पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए समान अधिकार और अवसर सुनिश्चित करती है, चाहे वह घर पर हो या शैक्षणिक संस्थानों में या कार्यस्थलों पर।

हालांकि, पिछले कुछ सालों पेंडुलम दूसरी तरफ आ गया है और आज ‘नारीवाद’ की परिभाषा केवल पुरुषों को कोसने तक सीमित हो गई है। मेन्स डे आउट (MDO) पुरुषों को उन लैंगिक असमानता से बाहर निकालने का एक गंभीर प्रयास है जो समाज के लिए समान रूप से महत्वपूर्ण है। भारत में लैंगिक असमानता के कारण अवसरों में भी असमानता उत्पन्न करता है, जिसका प्रभाव दोनों लिंगो पर पड़ता है लेकिन वर्तमान स्थिति में कुछ केस को देखें तो इस भेदभाव से सबसे अधिक युवा शोषण के शिकार हो रहे हैं।

आपका ऑनलाइन मैगजीन प्रासंगिक आर्टिकल्स, सूचनाओं और इंटरव्यू के साथ-साथ अदालती फैसलों पर अपना सर्वश्रेष्ठ देने की सुनिश्चित करेगा जो ‘उनकी कहानी’ (His Story) की यात्रा में महत्वपूर्ण हो सकते हैं। इस प्लेटफॉर्म के जरिए भारत में कई ऑन-ग्राउंड पुरुष अधिकार कार्यकर्ताओं की ऊर्जा को भी एक साथ लाने की कोशिश है जो समग्र रूप से सभ्यता में लैंगिक संतुलन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। एमडीओ किसी भी राजनीतिक या धार्मिक पूर्वाग्रह को प्रोजेक्ट नहीं करता है और यह फ्लेटफॉर्म किसी भी जातिवादी, सेक्सिस्ट या अपमानजनक टिप्पणियों को सख्ती से हतोत्साहित करता है। हमारा प्रयास सही मायने में सह-अस्तित्व और समानता के अधिकार की मानसिकता को व्यक्त करना है।

संस्थापक के बारे में जानें

अर्नाज़ हाथीराम (Arnaz Hathiram) पुरुषों के अधिकार आंदोलन की एक सक्रिय सदस्य रही हैं और उन्होंने उस प्रतिनिधिमंडल का भी नेतृत्व किया है जिसने सितंबर 2018 में भारत में पुरुषों के लिए एक अलग आयोग बनाने की मांग करते हुए एक सेमिनार का आयोजन किया था। वह सोशल मीडिया में विशेषज्ञता के साथ पत्रकारिता और जनसंचार में मास्टर डिग्री हासिल कर चुकी हैं।

लगभग दो दशक के लंबे प्रोफेशनल इंडस्ट्री में अनुभव के अलावा हमारी संस्थापक एक प्रभावी अधिवक्ता हैं और रचनात्मक संचार का उपयोग करके जनता तक संदेश पहुंचाती हैं। कई ऑनलाइन मीडिया पोर्टलों के साथ काम करने के बाद, उन्हें वेब से प्रासंगिक कंटेंट को तैयार करने, विकसित करने, समाचार पत्र डिजाइन करने और अभियान चलाने का समृद्ध अनुभव है।

अर्नाज़ (जो MDO की मैनेजिंग डायरेक्टर भी हैं) से सीधे उनके निजी फेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा किसी भी कानूनी या कंटेंट संबंधी सवालों के लिए हमें [email protected] पर ईमेल कर सकते हैं।

हमारी टीम

हमारे पास पोर्टल के लिए बाहरी कंटेंट कंट्रीब्यूटर्स (external content contributors) हैं। हम अपनी टीम के रूप में उस हर एक व्यक्ति को मानते हैं जो हमें इस उद्देश्य को फैलाने में मदद करता है। हमारी टीम हमेशा ऐसे ही बढ़ती रहेगी।